पुलिस प्रशासन, आरटीओ से बातचीत के बाद ई रिक्शा वाहन चालकों ने तय रूट पर वाहन चलाने पर जताई सहमति

पुलिस प्रशासन, आरटीओ से बातचीत के बाद ई रिक्शा वाहन चालकों ने तय रूट पर वाहन चलाने पर जताई सहमति

पुलिस प्रशासन, आरटीओ से बातचीत के बाद ई रिक्शा वाहन चालकों ने तय रूट पर वाहन चलाने पर जताई सहमति
पुलिस प्रशासन ने नियम शर्तों का पालन नहीं किया तो होगी कार्रवाई, आरटीओ ने कहा 10 दिन में कागजी कार्रवाई पूर्ण करें


उज्जैन |  ई - रिक्शा वाहन चालक विभिन्न मांगों को लेकर पिछले एक माह से विरोध प्रदर्शन कर रहे था, जिसका आज पुलिस प्रशासन, आरटीओ से बातचीत के बाद समापन हो गया है। ई रिक्शा वाहन चालक वाहनों के रूट और वाहनों के सचालन के समय को लेकर सहमत नहीं थे। लेकिन आज ई वाहन चालकों के साथ एसपी प्रदीप शर्मा और आरटीओ संतोष मालवीय ने चर्चा कर उन्हें शहर की व्यवस्था के साथ ही उज्जैन आने वाले भक्तों को ई रिक्शा वाहन से हो परेशानी से अवगत कराया गया। साथ ही स्पष्ट किया गया कि शहर की व्यवस्था को लेकर ई रिक्शा के रूट तय करना अनिवार्य है। साथ ही तीन तीन माह में रूटों में बदलाव किए जाएंगे जिससे सभी ई रिक्शा वाहन चालकों को आय समान रूप से हो सकेंगे। वहीं ई रिक्शा वाहन चालक भी इस पर सहमत हो गए है। पुलिस प्रशासन ने यातायात के नियम शर्तों का पालन करने की बात कहीं, नही तो कार्यवाई होगी। वही आरटीओ ने दस दिन के भीतर वाहनों से संबंधित कागजात आरटीओ कार्यालय पर जमा कराने की बात कहीं, जिससे सभी वाहनों के रूट जल्द तय किए जा सके। 


 इधर असंगठित ई रिक्शा परिचालक संघ अध्यक्ष बल्लू सिंह ठाकुर और किशनसिंह शेखावत भारतीय किसान संघ के जिलाध्यक्ष ने बताया कि पुलिस प्रशासन और आरटीओ से  वाहनों के झोन और रूट  को लेकर चर्चा हो गई है। साथ ही सभी ई रिक्शा वाहन चालकों ने भी सहमति जता दी है। पुलिस प्रशासन ने ई रिक्शा वाहन के स्टैंड शीर्घ उपलब्ध कराने की बात कहीं गई। दोनों यूनिजन के माध्यम से वाहन रेली निकालकर विरोध प्रदर्शन किया जाना था, लेकिन इससे पूर्व ही पुलिस प्रशासन और आरटीओ ने हमारी परेशानियों को देखते हुए कई मांगों पर सहमति जताई है। इन सभी मांगों का एक ज्ञापन आरटीओ को सौंपा है। साथ ही पुलिस प्रशासन ने जितने भी ई रिक्शा जब्त किए थे वह छोड़ दिए है।

विडियो देखे ---